अपराध नियंत्रण मामले में गोरखपुर प्रदेश में दूसरे स्थान पर।

गोरखपुर ब्यूरों । उत्तर प्रदेश में योगी सरकार बनने के के बाद से अपराधियों के हौसले पस्त नजर आने लगे है। पिछले साल के मुकाबले इस साल अपराध में कमी नजर आई है, तो वही गंभीर अपराधों के मामले में अनावरण का प्रतिशत भी बढ़ा है। प्रदेश मुख्यालय से मिली जानकारी के अनुसार प्रदेश के दस जनपदों की आंकड़ों पर गौर करें तो गोरखपुर जनपद अपराध नियंत्रण में दूसरे स्थान पर रहा है। पहले स्थान पर मुरादाबाद दूसरे स्थान पर गोरखपुर तीसरे स्थान पर इटावा चौथे पर औरैया पांचवी पर गौतमबुद्ध नगर छठवें स्थान पर ललितपुर सातवें स्थान पर कानपुर देहात आठवें स्थान पर गोंडा नौवें स्थान पर चंदौली और दसवें स्थान पर मुजफ्फरनगर रहा। बता दे कि लूट हत्या डकैती जैसे गंभीर अपराधों के मामले में गोरखपुर पुलिस ने लूट के 92 प्रतिशत व हत्या के 70 प्रतिशत घटनाओं का अनावरण किया है। मुरादाबाद जनपद में लूट के 94 प्रतिशत और हत्या की 100 प्रतिशत मामलों का पुलिस ने अनावरण करके यह साबित कर दिया है कि योगी सरकार में अपराधियों के लिए प्रदेश में सिर्फ जेल ही स्थान रह गया है। अपराधियों में पुलिस ने अपना खौफ दिखा दिया है की उत्तर प्रदेश में अपराध करने वाले बख्शे नहीं जाएंगे। अपराधियों में खौफ साफ नजर आने लगा है गोरखपुर जनपद की क्राइम ब्रांच  टीम लगातार अपराधियों की कमर तोड़ने में लगी हुई। एडीजी /आईजी  जय नारायण सिंह एसएसपी डॉ सुनील गुप्ता के निर्देशन पर कार्य कर रही क्राइम ब्रांच व एसआईटी टीम का परिणाम है कि बड़े से बड़े अपराधों का खुलासा पुलिस करने में सफल हो रही है।

Please follow and like us: