आन्दोलन रत रसोईया के समर्थन मे उतरी SUCI ( कम्युनिस्ट ) पार्टी । मुज़फ़्फ़रपुर में कई जगह सीएम नितिश कुमार का पुतला

दिनांक:06 फरवरी 2019
विद्यालय मैं कार्यरत रसोइयों के आंदोलन पर दमन एवं उन्हें भयभीत करने तथा उनकी जायज मांगों पर केन्द्र व राज्य सरकार द्वारा विचार न किए जाने के खिलाफ आज एस यूसीआई (कम्युनिस्ट) की ओर से प्रतिवाद जुलूस निकाला गया तथा मुख्यमंत्री नीतीश कुमार का पुतला फूंका गया । जुलूस पार्टी के मोतीझील कार्यालय से निकला जो नगर थाना, तिलक मैदान रोड तथा जवाहरलाल रोड होते हुए कल्याणी चौक पहुंचा।
          कल्याणी चौक पर पुतला दहन के उपरांत सभा को संबोधित करते हुए एसयूसीआई (कम्युनिस्ट) के राज्य कमिटी सदस्य लाल बाबू महतो ने कहा कि सरकार एक तरफ घोषणा कर रही है कि जिनकी कोई आमदनी नहीं है उन्हें ₹3000 प्रतिमाह पेंशन दिया जाएगा। परंतु 7 से 8 घंटा प्रतिदिन काम कर सरकार की महति योजना मध्यान्ह भोजन योजना को विद्यालय में सफल बनाने वाले रसोईया जिसमें 95% महिलाएं हैं उनमें अधिकांश दलित, पिछड़ा एवं विधवाएं हैं को महज 1250 रू.प्रति माह वेतन दिया जा रहा है। वह भी 12 माह के बदले 10 माह का ही वेतन दिया जाता है।रसोईया महीनों से अपनी मांगों को लेकर हड़ताल पर हैं। उनकी मांगों पर विचार करने के बजाय सरकार के अधिकारी उन्हें आतंकित कर रहे हैं तथा उनके आंदोलन का दमन कर रहे हैं। उन्हें हटाने का फरमान जारी कर रहे हैं। और मुख्यमंत्री चुप हैं। यह सरकार के तानाशाही को ही दर्शाता है।
      सभा को पार्टी के जिला कमिटी सदस्य विपिन ठाकुर, काशीनाथ सहनी, कालीकांत झा आदि ने संबोधित किया वहीं जुलूस का नेतृत्व जिला सचिव अर्जुन कुमार कर रहे थे। जुलूस में प्रेम कुमार राम, वीरेंद्र ठाकुर, शत्रुघन महतो, विजय राम शिव कुमार, उत्पल कुमार, मोहम्मद कलाम  व राजेश कुमार आदि मुख्य रूप से थे।