आयकर विभाग के तत्वाधान में टी डी एस/टी सी एस कटौती से संबंधित कार्यशाला का आयोजन सभकसक्ष में किया गया

मुज़फ़्फ़रपुर से राहुल कुमार की रिपोर्ट
आयकर विभाग के तत्वाधान में टी डी एस/टी सी एस कटौती से संबंधित कार्यशाला का आयोजन सभकसक्ष में किया गया। कार्यशाला में आयकर अधिकारी,टी डी एस द्वारा डी डी ओ द्वारा की जाने वाली टी डी एस कटौती को लेकर जो महत्वपूर्ण प्रावधान और प्रक्रिया है,उस बाबत उपस्थित सभी आहरण और संवितरण(डी डी ओ) पदाधिकारियो को महत्वपूर्ण जानकारियां दी गई।DDO द्वारा बार-बार की जाने वाली गलतियों एवं उसके निराकरण हेतु की जाने वाली अपेक्षित कार्रवाई के संबंध में विस्तृत जानकारी दी गई।बताया गया कि कर कटौती संख्या प्राप्त न करना(TAN),प्रति माह TDS नही काटना, धारा 80c के छूट के प्रमाण रिकॉर्ड पर न रखना,तिमाही विवरणिया   दाखिल न करना ,गलत PAN का उल्लेख,देरी से भुगतान,मिश्रित भुगतान के लिए एक ही चालान का उपयोग इत्यादि DDO द्वारा गलतियां की जाती है जिसे दूर करने की जरूरत है। बताया गया कि सैलरी पर टीडीएस फरवरी माह के अंत मे न कटवाकर माहवार कटौती की जाय।कार्यशाला में स्पष्ठ कहा गया कि सभी DDO सुनिश्चित कर ले कि कर्मचारी के वर्ष भर की कर योग्ग आय का अनुमान लगाकर प्रतिमाह टीडीएस काटें और वेतन के भुगतान की श्रोत पर कटौती के पूर्व धारा 80C/80DD/80U की छूट निर्धारित प्रपत्र रिकॉर्ड पर रखकर ही छूट प्रदान की जाय।श्रोत पर कर की कटौती /संग्रहण करने के पश्चात स्वयं अथवा TIN एफसी के माध्यम से प्रत्येक तिमाही के लिए TDS रिटर्न्स दाखिल करना DDO की अहम जिम्मेदारी है।जिस माह में कटौती की गई है उसके अगले माह के सात दिवस के भीतर चालान से भुगतान किया जाय अन्यथा आयकर अधिनियम 1961 की धारा 201(1A)के तहत ब्याज अनिवार्य रूप से देय होगा। कार्यशाला में जिलाधिकारी सहित सभी वरीय अधिकारी तथा कार्यालय संयुक्त आयकर आयुक्त टीडीएस परिक्षेत्र-1 ,पटना के अधिकारी,आयकर अधिकारी टीडीएस ,मुजफ्फरपुर के साथ आयकर विभाग के अन्य अधिकारी उपस्थित थे।