आर्थिक आधार पर आरक्षण लागू करें सरकार, तभी होगा सबका विकास ई. रवीन्द्र कुमार सिंह

समान शिक्षा और समान अधिकार को लेकर तीसरे दिन भी चला सघन जनसंपर्क अभियान

राष्ट्रीय समान अधिकार यात्रा का पांचवा चरण औरंगाबाद में हुआ संपन्‍न

25 फरवरी को पटना में होगा सवर्णो का विशाल शक्ति प्रदर्शन

आर्थिक आधार पर आरक्षण लागू करें सरकार, तभी होगा सबका विकास : ई. रवीन्द्र कुमार सिंह

राष्ट्रीय समान अधिकार यात्रा को मिल रहा युवाओं का भरपूर समर्थन : रोहित सिंह रैकवार

औरंगाबाद, 30 दिसंबर : राष्ट्रीय समान अधिकार यात्रा का पांचवा चरण रविवार को औरंगाबाद में सफलतापूर्व संपन्‍न हो गया। यात्रा के तीसरे दिन जिले के खरंटी, बभनडीहा, चंदा, धनौती, गढ़ौली, मटपा इत्यादि जगहों पर सभा के साथ जनसम्पर्क किया गया! इस दौरान यात्रा को लोगों का भारी समर्थन मिला। मालूम हो कि यात्रा के सभी चरण पूरे होने पर 25 फरवरी 2019 को गाँधी मैदान पटना में सवर्ण महारैली का आयोजन किया जायेगा। विभिन्न जगहों पर सभा को संबोधित करते हुए राष्ट्रीय समान अधिकार यात्रा के संयोजक ई. रविन्द्र कुमार सिंह ने कहा कि देश में सवर्णों का योगदान हमेशा से राष्‍ट्र और समाज निर्माण का रहा है। मगर आज तक तमाम राजनीतिक दलों ने आर्थिक रूप से कमजोर लोगों के बीच जातियता का जहर बोकर समाज में विभेद पैदा करने का काम किया है।अभी हाल ही में इसकी बानगी एससी – एसटी के काले कानून मामले में देखने को मिली, जब केंद्र सरकार ने कोर्ट के फैसले को भी नहीं माना। वहीं विपक्ष ने भी इस काले काननू का समर्थन किया। हद तो तब हो गई, जब प्रधानमंत्री का 56 इंच वाला सीना चिराग पासवान के हुंकार से 26 इंच का हो गया। श्री सिंह ने हाल ही में मोदी सरकार द्वारा चलाए गए आयुष्मान योजना को जन विरोधी बताते हुए कहा कि इससे न सवर्णों का भला होगा और न देश के अन्य कमजोर लोगों का। क्योंकि इस योजना के तहत लाभ भी अपोलो और पारस जैसे अस्पतालों को मिलेगा, जहां गरीब या मध्यम वर्ग के लोग इलाज कराने में सक्षम नहीं होंगे। इसलिए हमारी मांग है कि सरकार द्वारा कोई भी स्वास्थ्य संबंधित योजना प्रखंड या पंचायत स्तर पर चलाई जाए, जिसका लाभ देश के सभी तबके के लोगों को मिल सकेगा

उन्‍होंने कहा कि हम चाहते हैं कि देश की समाजिक समरसता को बनाये रखने के लिए समाज में शिक्षा, रोजगार, आर्थिक मजबूती और देश की प्रगति होनी चाहिए। हमारी मांग है कि देश में एक समान शिक्षा, स्‍वास्‍थ्‍य व्यवस्था और युवाओं के लिए रोजगार सुनिश्‍चित हो। आर्थिक आधार पर आरक्षण लागू करने की मांग करते हुए कहा कि हम आरक्षण का विरोध नहीं करते, लेकिन आरक्षण का निर्धारण आर्थिक आधार पर हो। हमारी एकजुटता ही हमारे अधिकारों की सुरक्षा व संरक्षा को सबल देगा। आजादी के सात दशक बाद भी सावर्णो के कल्याण के लिए किसी भी सरकार ने कोई कारगर कदम नही उठाया। उन्‍होंने कहा कि एकबार फिर से राष्ट्र पर राजनैतिक खतरें मंडरा रहा है।

वही रोहित सिंह रैकवार ने नेताओं को आड़े हांथों लेते हुए कहा कि सर्वण समाज ने देश की तरक्‍की के लिए स्‍कूलों, कॉलेजों, अस्‍पतालों समेत विकास के अन्‍य कार्यों के लिए जमीन और धन दौलत दान में दिया, ताकि कोई पीछे न रहे और सब आगे बढ़े। लेकिन हमें मिला क्‍या। आरक्षण के नाम पर हमारी जबरदस्‍त अनदेखी हुई। हम हर जगह से उपेक्षित कर दिया गया।  हमारे विधायक-सांसद सदन में बैठकर टेबल थपथपाते हैं, मगर हमारे अधिकार की अनदेखी पर चुप्‍पी साध लेते हैं। वे वोट बैंक के लिए सवर्ण समाज को पीछे धकेलने का काम करते हैं। हम ऐसे कायरों को भागकर ही दम लेंगे। हमारा ये आंदोलन तब तक चलेगा, जब तक हमें अपना अधिकार नहीं मिल जाता है। उन्‍होंने कहा कि हम भारतीय हैं। अखंड भारत के लिए जातिवाद को खत्‍म करके ही दम लेगें।

विशाल सिंह परमार ने कहा कि देश में समानता कायम करने को लेकर गांधी जयंती के अवसर पर 2 अक्‍टूबर से गांधी संग्राहलय चंपारण से शुरू हुई राष्ट्रीय समान अधिकार यात्रा का चार चरण पूर्ण होने के बाद पांचवे चरण की यात्रा आरा, बक्सर, कैमूर, रोहतास के बाद औरंगाबाद में सफलतापूर्वक पूर्ण हुआ ! इस दौरान यात्रा को लोगों का भारी समर्थन प्राप्त हो रहा है। इस यात्रा का अंतिम चरण राजगीर से पटना तक होगी, जिसके बाद 25 फरवरी को पटना के ऐतिहासिक गांधी मैदान में एक विशाल जनसभा का आयोजन किया जायेगा।

इस मौके पर रोहित सिंह रैकवार, विशाल सिंह परमार, राजवीर सिंह, विशाल प्रताप सिंह, हरेंद्र कुमार दुबे, मुन्ना दुबे, किशोर गिरी, अशोक कुमार पांडेय, चंदन सिन्हा, योगेंद्र पांडेय, नीरज तिवारी, शिवनाथ सिंह, भोला सिंह, अमरेंद्र प्रसाद, राधामोहन सिंह, प्रमोद सिंह, बबलू सिंह सोलंकी, कुणाल शर्मा, गौरव कुमार सिंह, प्रियव्रत नाथ पांडेय, राज कुमार ठाकुर, लालन सिंह, रामेश्वर सिंह, सोनू कुमार पांडेय, प्रसिद्ध कुमार सिंह के साथ सैकड़ो लोग मौजूद थे

Please follow and like us: