असली तारणहार बेटियाँ होती हैं: डॉ.सत्यप्रकाश

विनय कुमार मिश्र/शशि जायसवाल
गोरखपुर ब्यूरों ।किसान इंटरमीडिएट कॉलेज आभुराम तुर्कवालिया, गोरखपुर में राष्ट्रीय सेवा योजना के सप्त दिवसीय शिविर के पंचम दिवस पर स्वयंसेवक और स्वयंसेवकों के बीच विभिन्न प्रकार की प्रतियोगिताओं का आयोजन हुआ। इस अवसर आयोजित निबंध प्रतियोगिता जिसका शीर्षक था “बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ “में स्वयं सेवक व सेविकाओं ने बढ़ चढ़ कर भाग लिया। इस प्रतियोगिता में भोले नाथ चौरसिया  प्रथम ,अटल कुमार,द्वितीय व जनार्दन यादव ने तृतीय स्थान प्राप्त किया। छात्राओं में आकृति जायसवाल ने प्रथम ,अंतिमा द्वितीय व पूजा ने तृतीय स्थान प्राप्त किया। स्वयंसेवक व स्वयंसेविकाओ ने छ: विद्यालयों में श्रमदान  और सफाई की तथा स्वच्छता के प्रति लोगो को जागरूक किया।
बुधवार के बौद्धिक सत्र में मुख्य अतिथि डॉ सत्यप्रकाश यादव आचार्य पंडित ठाकुर प्रसाद त्रिपाठी ने संयुक्त रूप से कहा कि “बेटियां असली तारणहार होती है” हमें बेटी और बेटों में भेदभाव नहीं करना चाहिए। इस अवसर पर बोलते हुए विशिष्ट अतिथि शुभांकर पांडे ने स्वयंसेवक और  सेविकाओं के समर्पण भाव की प्रशंसा की ।
कार्यक्रम की अध्यक्षता कर रहे  विद्यालय के प्रधानाचार्य श्री डी एन त्रिपाठी ने सब का आभार व्यक्त किया।
इसके पूर्व कार्यक्रम अधिकारी दीनानाथ यादव जी ने कार्यक्रम की रूपरेखा विस्तार से बताई।कार्यक्रम की शुरुआत सरस्वती वंदना और स्वागत गीत से हुई। इस अवसर पर छात्र-छात्राओं ने विभिन्न प्रकार के सांस्कृतिक  व देश भक्ति की भावना से ओत प्रोत कार्यक्रम प्रस्तुत किए । इस अवसर पर विद्यालय के शिक्षक डॉ शोभित श्रीवास्तव ने “बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ “का संदेश देते हुए अपनी कविता “बेटियां बेटों से कम नहीं “की प्रस्तुति की। कार्यक्रम का सफल संचालन डॉ शोभीत श्रीवास्तव ने किया।इस अवसर पर विद्यालय के शिक्षक ए पी सिंह ,एचआर पाठक ,राम बहाल सिंह  पन्ने लाल गुप्ता, संदीप पांडे ,झकरी प्रसाद ,सीएल पांडे अमरनाथ तिवारी अमरनाथ गौर कंचन गुप्ता आदि लोग उपस्थित रहे।