आम पार्टी का नारा भाजपा भगाओ, भगवान बचाओ।

गोरखपुर ब्यूरों । आम आदमी पार्टी द्वारा बुधवार को प्रेस वार्ता हुई जिसमें पार्टी द्वारा 12 जनवरी को अयोध्या से काशी तक एक पदयात्रा निकालने का निर्णय लिया गया है। यह बात गोरखपुर के  जिला अध्यक्ष  वैभव जायसवाल ने कहीं।उन्होंने कहा कि ये यात्रा निकालने का मकसद है भाजपा के कथित हिंदूवादी होने के ढोंग को सार्वजनिक करना, भाजपा की हकीकत उजागर करना। यात्रा में शामिल यात्री लोगों को बताएंगे कि किस तरह से अयोध्या में राम लला का मंदिर बनाने का समय-समय पर खास तौर पर चुनाव के वक्त जोर-शोर से नारा गुजता है लेकिन मंदिर नही बनता है, भाजपा किस तरह से सनातन हिंदू परंपरा से खेल रही है। किसी तरह से देवी -देवताओं पर ओछी टिप्पणी की जा रही है। कैसे देव विग्रहों को नष्ट किया जा रहा है। मंदिरों को गिराया जा रहा है। ऐतिहासक और पौराणिक महत्व वाले भवनों को ध्वस्त किया जा रहा है।इस यात्रा में पार्टी के पंजाब और दिल्ली के विधायक और मंत्री भी शामिल होंगे, यात्रा का मकसद लोगों को बताना है कि किस तरह से श्री काशी विश्वनाथ मंदिर परिक्षेत्र के धार्मिक वजूद को नष्ट कर उसे व्यावसायिक स्वरूप देने की कोशिश की जा रही है। इसकी शुरूआत  2015 में तब होती है जब अंबानी परिवार काशी आता है और गंगा दर्शन के साथ बाबा विश्वनाथ का दर्शन-पूजन करता है। उसी वक्त विश्वनाथ मंदिर परिक्षेत्र के व्यवसायीकरण की नींव रख दी जाती है। पहले इसका नाम गंगा पाथ वे दिया जाता है, लेकिन इसका विरोध होने पर उसे श्री काशी विश्वनाथ कॉरिडोर नाम दिया जाता है। इसके तहत सैकड़ों मंदिरों और ऐतिहासक महत्व वाले भवनों को जमींदोज कर दिया जाता है। हजारों देव विग्रहों को नष्ट कर दिया जाता है। सीएम जो खुद एक पीठ के पीठाधीश्वर हैं का मकसद दर्शनार्थियों को मंदिर के गर्भगृह तक के लिए सुगम मार्ग देना नहीं है। वस्तुतः इसका पूरी तरह से व्यवसाय करना है। दर्शनार्थी हजारों हजार साल से काशी की सर्पीली गलियों से आसानी के साथ बाबा विश्वनाथ के गर्भ गृह तक पहुंचते रहे हैं। चाहे वह सावन के सोमवार हों, महाशिवरात्रि हो या रंग भरी एकादशी हो। अपार जनसमूह उमड़ता रहा है लेकिन किसी को किसी तरह की दिक्कत कभी नहीं हुई। यह सोच दरअसल अंबानी परिवार की है, जिसकी पूर्ति के लिए प्रधानमंत्री और मुख्यमंत्री अनादि काल से स्थापित काशी की संस्कृति से खिलवाड़ कर रहे हैं। प्रेस वार्ता में  तारीक अनवर अबू जिंदल खान शिवशंकर जयसवाल कलीम शशि बाला विनीत मिश्रा राजेश पांडे सतीश शुक्ला अजय साहनी फुल बदन वसी हैदर आदि लोग उपस्थित रहे।