बाबा इसहाक अली का 23 वाँ सालाना उर्स मनाया गया

समस्तीपुर से एम नईमुद्दीन आज़ाद की रिपोर्ट !

समस्तीपुर : जिले से सटे वैशाली के सुमेरगंज रसूलपुर फतह में आज हर साल की तरह इस साल भी बाबा इसहाक अली कादरी का 23 वाँ उर्स गर्ष व उल्लास के साथ मनाया गया। खानकाह की जानिब से बाबा के मजार पर दिन में 12:40 बजे चादर पोशी की गई उसके बाद उनके खादिमो ने फितिहा खानी कर दुवाएं मांगी। बताया जाता है कि बाबा के उर्स में सामील होने के लिए समस्तीपुर, वैशाली के अलावा कटिहार,पूर्णिया, मुजफ्फरपुर,बेगूसराय, उत्तर प्रदेश, कोलकाता, दिल्ली,पंजाब के अतिरिक्त जगहों से आते हैं। दूर दराज से आने वाले जायरीनों के लिए यहां ठहरने के लिए बेहतर इंतजाम रहता है। बताया जाता है कि बाबा के दरबार से कोई मायूस नही लौटता वे सभी की मुरादें पूरी करते हैं। उनके दरबार मे सुबह से ही जायरीनों का आने जाने का तांता लगा हुआ है, जो देर रात तक जारी रहता है। उर्स की रौनक बढ़ाने के लिए बाद नमाज मगरिब जलसे का आयोजन किया गया। हजरत इसहाक अली बाबा के उर्स को कामयाब बनाने के लिए गद्दी नशीं गौस इमाम कादरी,सूफी मोतिउर रहमान,मो0 नूरुल होदा,मो0 शमीम कादरी,मो0 अख्तर,मास्टर मो0 नसीम,मो0 एजाज कादरी,मो0 मुस्तुफा,मो0 शौकत,मो0 जमील,मो0 समीउर रहमान,मो0 अमीन,मो0 लतिफुर रहमान वगैरह ने बढ़चढ़ कर हिस्सा लिया।

Please follow and like us: