बिहार : डकैती का बदला लेने के लिए छोड़ दी होमगार्ड की नौकरी, बन गया मोस्ट वांटेड

कैमूर

कैमूर : बिहार के कैमूर जिला में अपराधी कवींद्र कोहार को पुलिस ने काफी मशक्कत के बाद घेराबंदी कर घर से भागने के दौरान पकड़ लिया. उसके पास से एक देसी कट्टा, दो जिंदा कारतूस और तीन मोबाइल बरामद हुआ है. गिरफ्तार अपराधी 1989 में रोहतास जिला के डेहरी में होमगार्ड का जवान था. 1990 में उसके घर डकैती हुई, जिसमें कवींद्र के पिता को भी अपराधियों ने पैर में गोली मारी.

इस घटना के बाद होमगार्ड की नौकरी छोड़कर कवींद्र अपराध की दुनिया में चला गया. ताबड़तोड़ लूट, हत्या और डकैती की घटना में शामिल हो गया. 1991 से लेकर अब तक उसने 21 घटनाओं को अंजाम दिया है. इसमें आधा दर्जन हत्या, लगभग 10 डकैती और पांच लूट की घटनाओं को अंजाम दिया. सभी घटना को उसने कैमूर, बक्सर और रोहतास में अंजाम दिया.

कवींद्र रोहतास जिला के परसथुआ का रहने वाला है. वह जो भभुआ के वार्ड नंबर एक में घर बनाकर रह रहा था. वह एक दर्जन से अधिक केस में फरार चल रहा था. कैमूर एसपी दिलनवाज अहमद ने बताया कि गिरफ्तार अपराधी कवींद्र कोहार लगभग आधा दर्जन हत्या की घटनाओं में शामिल है. एक दर्जन के आसपास बस, कार, और घरों में डकैती जैसे घटनाओं को अंजाम दिया है. आधा दर्जन के लगभग लूट की घटनाओं को भी अंजाम दिया है. वह लगभग 16 मामलों में फरार चल रहा है.

भभुआ में वह अपना नाम बदलकर रह रहा था. गुप्त सूचना के आधार पर पुलिस पकड़ने गई तो छत से कूद कर नदी के सहारे भागना चाहा. जहां पुलिस ने पकड़ लिया. छह लोगों की टीम इसके साथ काम करती थी. इसमें चार लोग पहले जेल जा चुके हैं और फरार लोगों के खिलाफ पुलिस की छापेमारी जारी है.

वहीं, कवींद्र ने बताया कि वह रोहतास जिला के डेहरी में होमगार्ड का नौकरी करता था. घर में हुई डकैती में डकैत जानवरों के साथ-साथ घर के सारा सामान लेते गए और उसके पिता को गोली मार दी. इसी का बदला लेने के लिए उसने अपना ग्रुप बनाया.

Please follow and like us: