मोदी सरकार की खास योजना, इन किसानों को मिलेगी 24 लाख रुपए की मदद

कृषि मंत्रालय के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि अगर आप निजी कृषि यंत्र बैंक (कस्टम हायरिंग सेंटर) बनाएंगे तो सरकार 40 फीसदी पैसा खुद लगा रही है। इसके तहत आप 60 लाख रुपये तक का प्रोजेक्ट पास करवा सकते हैं। यानी अपने क्षेत्र के किसानों की जरुरतों को समझते हुए इतनी रकम की मशीनें खरीद सकते हैं।आपके इस प्रोजेक्ट में 24 लाख रुपये सरकार लगाएगी।

कॉपरेटिव ग्रुप बनाकर भी आप मशीन बैंक तैयार कर सकते हैं, लेकिन ग्रुप में 6 से 8 किसान होने चाहिए। ग्रुप में अधिकतम 10 लाख रुपये का प्रोजेक्ट पास होगा। यानी आपको 8 लाख रुपये तक की सब्सिडी मिल सकती है। अब तक देश भर में करीब 20 हजार कृषि यंत्र बैंक बन चुके हैं।
कृषि वैज्ञानिक प्रो. साकेत कुशवाहा का कहना है कि फसलों का अधिक उत्पादन समय की जरूरत है। प्रोडक्शन अधिक लेना है तो खेती में उन्नत कृषि यंत्रों का इस्तेमाल जरूरी है। जिससे कृषि कार्य जल्दी होते हैं और उत्पादन लागत में कमी भी आती है।
देश में 90 फीसदी से अधिक छोटे किसान हैं जिनके पास जमीन तो कम है ही, उनकी आर्थिक स्थिति ऐसी नहीं है कि अधिक लागत के आधुनिक कृषि यंत्र खरीद सकें। इसलिए इसे ठीक तरह से लागू किया जाए तो किसानों की जिंदगी में बदलाव आएगा।

Please follow and like us: