राजकुमार गौतम के नेतृत्व में मनाई गई बुद्ध जयंती

सुलतानपुर। आज दिनांक 18 मई 2019 को महामानव तथागत गौतम बुद्ध की जयंती तिकोनिया पार्क में मनायी गयी। दोपहर 1 बजे लम्बरदार का पुरवा सौरमउ से भव्य झाँकी निकाली गयी जो राहुल चैराहा, शाहगंज चैराहा, चैक घंटाघर सब्जी मंडी, जिला अस्पताल गेट होते हुये तिकोनिया पार्क पहुँच कर जुलूस सभा के रूप में परिवर्तित हो गया। तिकोनिया पार्क में कार्यक्रम की शुरूआत भन्ते प्रज्ञानाम द्वारा तथागत बुद्ध व बाबा साहब की चित्र पर माल्यार्पण के साथ पूजा, वन्दना तथा त्रिशरण पंचशील से हुआ। भन्ते जी ने बताया कि संसार का जो व्यक्ति गौतम बुद्ध द्वारा दिये गए त्रिशरण और पंचशील को अपना ले तो वह अपने जीवन को सही रास्ते पर ला सकता है। जयंती कार्यक्रम के मुख्य अतिथि श्यामलाल बौद्ध ने गौतम बुद्ध की बातों का अनुसरण करने के लिए प्रेरित किया।
             कार्यक्रम में विशिष्ट अतिथि डॉ. कलामुद्दीन ने शोषित समाज को संगठित होने की अपील की। रामफेर राव तथा बृजलाल कनौजिया ने भी अपने विचार व्यक्त किये। कार्यक्रम के संरक्षक शिक्षक श्यामलाल निषाद ने अपने संबोधन में कहा कि देश के चहुमुंखी विकास के लिए बुद्ध दर्शन और समाज कल्याण के लिए समर्पित समाज सेवियों को बुद्ध के राज गद्दी त्याग से प्रेरणा लेनी चाहिए। शिक्षक राजेश कनौजिया ने कहा कि मानव-मानव में भेदभाव के विरुद्ध लार्ड बुद्धा ने ढाई हजार साल पहले क्रांति की थी। कार्यक्रम की अध्यक्षता आर.ए. कोविद ने किया तथा कार्यक्रम के आयोजक राजकुमार गौतम जयंती में आये सभी बन्धुओ का  आभार व्यक्त किया। जयंती कार्यक्रम में रामऔतार बौद्ध, हौसिला प्रसाद, जीतूराम शाही, नंदलाल गौतम, डॉ दिनेश गौतम, राम कुमार यादव, अरविंद कुमार बौद्ध, महारानी बौद्ध,  मोस्ट कल्याण संस्थान के सचिव रविकांत निषाद, सुरेश निषाद, नरेन्द्र निषाद, जीशान अहमद, एनडी विद्रोही  सहित सैकड़ों लोग उपस्थित रहे।

Please follow and like us: