राहुल के इस्तीफे में उलझी कांग्रेस को अब डीएमके ने भी दिया झटका

राहुल गांधी के इस्तीफे पर बुरी तरह फंसी कांग्रेस को अब तमिलनाडु में उसकी सहयोगी डीएमके ने भी झटका दे दिया है। कांग्रेस को उम्मीद थी कि डीएमके पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह को राज्यसभा पहुंचाने में मदद जरूर करेगी, लेकिन अंतिम समय में एमके स्टालिन की पार्टी ने उसे गच्चा दे दिया है।

डीएमके चीफ एमके स्टालिन ने लोकसभा चुनाव से पहले राहुल गांधी को प्रधानमंत्री बनाए जाने को लेकर जमकर बैटिंग की थी। लेकिन, अब उन्होंने ही कांग्रेस को पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह को राज्यसभा पहुंचाने के लिए भी तरसा दिया है।
एनडीटीवी की खबर के मुताबिक इस मुद्दे पर कांग्रेस और डीएमके बीच हुई बातचीत फेल हो गई है। डीएमके ने मंगलवार को तमिलनाडु की तीन राज्यसभा सीटों पर उम्मीदवारों की घोषणा कर दी, जिसमें एक सीट उसने अपनी सहयोगी एमडीएमके के वी गोपालस्वामी या वाइको के लिए छोड़ी है।
तमिलनाडु में 18 जुलाई को राज्यसभा की जिन 6 सीटों के लिए चुनाव होने हैं, जिसमें से तीन सीटों के लिए डीएमके और तीन सीटों के लिए सत्ताधारी एआईएडीएमके के पास पूरे विधायक हैं। पहले ऐसी खबरें थीं कि डीएमके एक सीट मनमोहन सिंह के लिए छोड़ेगी, जिनके लिए इसबार राज्यसभा में पहुंचने का रास्ता असम और गुजरात में पहले ही बंद हो चुका है। सूत्रों के मुताबिक एमके स्टालिन ने अपना रुख इसलिए बदला है, क्योंकि मनमोहन सिंह के लिए सोनिया गांधी या राहुल गांधी ने खुद कभी उनसे बात नहीं की, बल्कि इसके लिए सिर्फ अहमद पटेल और गुलाम नबी आजाद को लगाया था। शायद यही बात डीएमके लीडर को चुभ गई।

Please follow and like us: