वन विभाग की टीम का छापेमारी का सिलसिला जारी

तालाब में छुपाकर रखी गयी 29 बोटा लकड़ी बरामद
मछली के अवैध शिकारियों से हुई मुठभेड़
बहराइच
 वन अपराधों पर प्रभावी अंकुश लगाये जाने विशेषकर वनों की अवैध कटान में संलिप्त व्यक्तियों तथा वन काष्ठ एवं वन्य जीवों के अवैध व्यापार में शामिल लोगों के विरूद्ध कठोर कार्रवाई किये जाने के उद्देश्य से दुधवा टाईगर रिज़र्व के फील्ड डायरेक्टर रमेश कुमार पाण्डेय के निर्देश पर कतर्नियाघाट वन्य जीव विहार में संचालित सघन छापेमारी अभियान के दूसरे दिन भी मोतीपुर रेंज अन्तर्गत एक व्यक्ति को गिरफ्तार किया गया तथा मिहींपुरवा के निकट स्थित तालाब में छिपाकर रखी गयी 29 बोटा लकड़ी बरामद की गयी। श्री पाण्डेय ने बताया कि वन काष्ठ की बरामदगी में वन निगम कर्मियों की संलिप्ता जाॅचने के भी निर्देश दिये गये हैं।
वहीं दूसरी ओर कतर्नियाघाट वन क्षेत्र में अवैध मछली शिकार के विरूद्ध संचालित किये गये अभियान के दौरान वन कर्मियों तथा मछली के अवैध शिकारियों के बीच हुई मुठभेड़ (फायरिंग) के बीच कुछ शिकारी नदी में कूद कर भागने में सफल रहे। इस कार्यवाही के दौरान 01 शिकारी को वन विभाग की टीम पकड़ने में सफल रही। घटना स्थल पर 01 नाव तथा 10 जाल को भी बरामद करने में वन विभाग की टीम सफल रही।
फील्ड डायरेक्टर श्री पाण्डेय ने बताया कि कतर्नियाघाट वन्य जीव प्रभाग अन्तर्गत समस्त रेंजों को निर्देश दिया गया है कि वन अपराधों पर प्रभावी अंकुश के लिए प्रवर्तन की प्रभावी कार्यवाही करते रहें। श्री पाण्डेय ने प्रभाग के समस्त अधिकारियों एवं कर्मचारियों को निर्देश दिया है कि प्रभागीय वनाधिकारी जी.पी. सिंह के नेतृत्व में पूरी मुस्तैदी के साथ वन एवं वन्य जीवों की सुरक्षा के लिए अपने उत्तरदायित्वों का निर्वहन पूरी निष्ठा के साथ करते रहें। श्री पाण्डेय ने बताया कि पिछले छः माह में लगभग 50 से अधिक अभियुक्तों को विभिन्न वन अपराधों में जेल भेजा गया है जो पिछले वर्ष इस समयावधि में की गयी गिरफ्तारी का दो गुना है।
Please follow and like us: