♦इस खबर को आगे शेयर जरूर करें ♦

हीरा ज्वेलर्स में हुए लूट मामले की मास्टरमाइंड निकली हसनपुर थाना क्षेत्र की अजंलि

हीरा ज्वेलर्स में हुए लूट मामले की मास्टरमाइंड निकली हसनपुर थाना क्षेत्र की अजंलि

बिथान प्रखंड के सखवा पंचायत के पूर्व मुखिया की है बेटी

हसनपुर थाना क्षेत्र के धबोलिया गांव में मिथिलेश कुमार उर्फ लालू नामक युवक की हत्या के मामले में जा चुकी है जेल

समस्तीपुर : शहर के मोहनपुर स्थित हीरा ज्वेलर्स नामक दुकान में हुए एक करोड़ रुपए के जेवरात लूट मामले में एसटीएफ ने पटना से अंजलि नामक जिस लड़की को गिरफ्तार किया है वह लड़की जिले के हसनपुर थाना क्षेत्र के धबोलिया गांव की रहने वाली है। अंजलि के पिता कारी साह सखवा पंचायत के पूर्व मुखिया रहे हैं। अंजलि वर्ष 2021 के जून महीने में गांव के ही मिथिलेश कुमार उर्फ लालू की हत्या के मामले में जेल जा चुकी है।

रोसड़ा उपकार में ही लिखी गई लूट की स्क्रिप्ट :-

बताया गया है कि हत्याकांड में जेल जाने के बाद अंजलि गत वर्ष नवंबर महीने तक रोसड़ा उप कारा में बंद थी। इसी दौरान अंजलि की नजदीकी रोसड़ा जेल में बंद दूसरे जिले के एक कृष्णा नामक अपराधी से बढी। जहां दोनों ने मिलकर बाहर निकलने के बाद लूट के लिए गैंग तैयार किया। जेल से निकलने के कुछ दिनों बाद ही 3 दिसंबर को इस लूट की घटना को अंजाम दिया गया। गत वर्ष 3 दिसंबर को अपने साथ अन्य मित्रों के साथ अंजलि हीरा ज्वेलर्स मैं लूट के लिए पहुंची थी। चुकी वह समस्तीपुर शहर की रहने वाली नहीं थी जिस कारण इसे उम्मीद थी कि इसे कोई पहचान नहीं पाएगा। लेकिन इस मामले में चेरिया बरियारपुर और समस्तीपुर के बहादुरपुर में हुई गिरफ्तारी के बाद इसका पहचान उजागर हो गया।

लूट की घटना के बाद मित्रों के साथ भाग गई थी नेपाल :-

पुलिसिया पूछताछ के दौरान यह बात सामने आई है कि अंजनी लूट की इस घटना के बाद ताबड़तोड़ हो रही छापेमारी को देखते हुए अपने मित्रों के साथ नेपाल भाग गई थी। कुछ दिनों तक नेपाल में रहने के बाद वह कोलकाता चली गई बाद में वह बेगूसराय में अपना ठिकाना बनाया ।ताकि उसका घर आना जाना हो सके ।इधर एसटीएफ की बढ़ रही दबाव को देखते हुए अंजलि ने अपना ठिकाना पुनः बदला और वह पटना पहुंच गई इसी दौरान एसटीएफ को भी भनक लगी और उसे पटना से गिरफ्तार कर लिया गया।

त्रिकोण प्रेम के चक्कर में मारा गया था लालू:-

बताया गया है कि अंजलि को गांव के ही चंदेश्वर के पुत्र मिथिलेश उर्फ लालू से प्यार हो गया था। लालू वैसे तो प्रदेश में रहकर ठेकेदारी का कार्य करता था लेकिन वह उन दिनों गांव आया हुआ था इसी दौरान उसकी आंखें अंजली से चार हो गई थी मामले की जानकारी के बाद अंजलि की मां ने मिथिलेश को बुलाकर साजिश के तहत उसकी हत्या कर दी और उसके शव को घर के पीछे पोखर में फेंक दिया जो बाद में बरामद हुआ था। इस मामले में अंजलि को भी सह अभियुक्त बनाया गया था।


व्हाट्सप्प आइकान को दबा कर इस खबर को शेयर जरूर करें


स्वतंत्र और सच्ची पत्रकारिता के लिए ज़रूरी है कि वो कॉरपोरेट और राजनैतिक नियंत्रण से मुक्त हो। ऐसा तभी संभव है जब जनता आगे आए और सहयोग करे

[responsive-slider id=1811]

जवाब जरूर दे 

आप अपने सहर के वर्तमान बिधायक के कार्यों से कितना संतुष्ट है ?

View Results

Loading ... Loading ...


Related Articles

Close
Close
Website Design By BootAlpha.com +91 84482 65129