जमीन विवाद को लेकर दो परिवार के कुल 6 लोगों की हत्या कर दी गई है

ias coaching , upsc coaching

देवरिया में दो पक्षों के 6 लोगों की हत्या के बाद सीएम योगी आदित्यनाथ ने प्रमुख गृह सचिव को मौके पर जाकर लॉ एंड ऑर्डर को मेंटेन करने के सख्त निर्देश दिए हैं. बताया जा रहा है कि यह खूनी खेल ढाई करोड़ की एक जमीन के लिए हुआ है.

 

जमीन विवाद को लेकर दो परिवार के कुल 6 लोगों की हत्या कर दी गई है

 

उत्तर प्रदेश के देवरिया जिले में जमीन विवाद को लेकर दो परिवार के कुल 6 लोगों की हत्या कर दी गई है. बताया जा रहा है कि एक पक्ष के एक व्यक्ति की हत्या के बाद उसके पक्ष वालों ने दूसरे पक्ष के पूरे परिवार पर जानलेवा हमला कर दिया जिसमें 5 लोगों की और मौत हो गई. इस खूनी संघर्ष की वजह बना जमीन का एक टुकड़ा. इस जमीन के टुकड़े की कीमत करीब 2 करोड़ 40 लाख रुपये बताई जा रही है. इस मामले में सीएम योगी आदित्यनाथ भी पल-पल की मॉनिटरिंग कर रहे हैं.

इस पूरे मामले में राज्य के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने सख्त निर्देश दिए हैं. उन्होंने प्रमुख गृह सचिव संजय प्रसाद और स्पेशल डीजी प्रशांत कुमार को तुरंत मौके पर जाने के निर्देश दिए हैं. सीएम ने इन्हें निर्देश देते हुए मौके पर जाकर हर एक पहलू की उन्हें जानकारी देने को कहा है. इस दौरान सीएम योगी ने किसी भी हाल में लॉ एंड ऑर्डर को मेंटेंन करने के लिए भी सख्त निर्देश दिेए हैं.

वहीं ग्रामीणों ने बताया कि सत्यप्रकाश के भाई साधु यादव ने कुछ साल पहले प्रेम यादव को 6 बीघा जमीन बेची थी. इस जमीन की कीमत 2 लाख रुपये प्रति कट्ठा है यानी पूरी जमीन की कीमत करीब 2 करोड़ 40 लाख है. इसी जमीन की वजह से दोनों पक्षों में विवाद चल रहा था.

जानकारी के मुताबिक यह पूरा मामला देवरिया के रुद्रपुर तहसील के फतेहपुर का है. यहां पर दो पक्षों के बीच यह खून खेल हुआ है जिसमें एक है पूर्व जिला पंचायत सदस्य प्रेम यादव का और दूसरा पक्ष है सत्यप्रकाश दुबे का. सोमवार को सुबह संदिग्ध रूप से प्रेम कुमार की किसी ने पीट-पीट कर हत्या कर दी थी.

प्रेम कुमार की हत्या की खबर सुनकर उसके पक्ष के लोगों ने प्रतिशोध में सत्यप्रकाश दुबे के परिवार पर हमला कर दिया था. प्रतिशोध के दौरान सत्यप्रकाश, उनकी पत्नी, दो बेटी और एक बेटे पर धारदार हथियारों से हमला किया गया. जिसमें सभी गंभीर रूप से घायल हो गए. पुलिस ने उन्हें हॉस्पिटल रेफर किया जहां उन्हें मृत घोषित कर दिया गया.

ias coaching , upsc coaching

Leave a Comment

error: Content is protected !!