बिहार में सीएम नीतीश का पुतला दहन किया गया है

ias coaching , upsc coaching

बिहार में सीएम नीतीश का पुतला दहन किया गया है

जहानाबाद के जन अधिकार पार्टी लोकतांत्रिक के जिला अध्यक्ष संजय कुमार यादव के नेतृत्व में जिला समाहरणालय कारगिल चौक पर बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार का पुतला दहन किया गया पुतला दहन कार्यक्रम के बाद जिला अध्यक्ष संजय कुमार यादव ने सभा को संबोधित करते हुए कहा की बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार एवं डिप्टी सीएम तेजस्वी यादव ने वादा किया था सरकार में आते ही सभी आंगनवाड़ी, आशा, ममता एवं संविदा पर बहाल सभी अमीन को नियमित वेतनमान का दर्जा देते हुए राज्य कर्मचारी का दर्जा दूंगा यहां तक बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने चुनावी मंच से 19 लाख लोगों को रोजगार देने का वादा किए थे लेकिन आज ठीक तीन वर्ष के कार्यकाल पूरा होने के उपरांत कई संविदा अमीन को प्रशासनिक तंत्र के उपयोग करते हुए सेवा से मुक्त कर दिया गया
आगे जिला अध्यक्ष संजय कुमार यादव ने कहा की दूसरे जिले के अंचल अधिकारी ठाकुरगंज सरकार से अनुरोध कर रही है अमीनो को नहीं हटाया जाए। इस तरह से आगे मुख्यमंत्री नीतीश कुमार का गृह जिला नालंदा में अंचल अधिकारी को पत्र लिखकर यह कहना पड़ रहा है पुराने अमीन के बिना भूमि माफी का कार्य संभव नहीं है जितने भी नए अमीन की बहाली हुई है वह सभी लोग अप्रशिक्षित हैं बहाली के बावजूद अभी पूरे राज्य में ढाई सौ सिट खाली है तो सरकार को चाहिए पुराने अमीन को साथ रख कर काम का निपटारा करें। हम सभी जानते हैं की बिहार सरकार के पास जितने भी मामले आ रहे हैं उसमें लगभग 80% मामला जमीन से संबंधित मामला ही रहता है। जब सरकार के पास प्रशिक्षित अमीन होंगे ही नहीं तो जमीन के मापी का कार्य कैसे संभव है हमारे जिला में 12 वर्षों से पूरे जिला को 6 अमीन जो तकनीकी रूप से सक्षम थे जिनके पास 12 वर्ष का अनुभव था भी फिर भी उनमें से चार अमीन को सेवा समाप्त कर दिया गया और नए अमीन के रूप में 18 लोगों को बहाल किया गया नवनियुक्त अमीन तकनीकी रूप से सक्षम नहीं है खाता, खेसरा, रखवा, नक्शा के बारे में जानकारी का अभाव है यह हम नहीं बिहार सरकार के पदाधिकारी ही बोल रहे हैं नालंदा जिला के अपर समाहर्ता का कहना है नए लोगों को बिना कार्य का वेतन भुगतान किया जा रहा है जिससे राजकीय राजस्व की हानि हो रही है ।इन सब के बावजूद बिहार सरकार पुराने अमीनो को धीरे-धीरे हटाने की प्रक्रिया जारी रखें हुई है।

ias coaching , upsc coaching

Leave a Comment

error: Content is protected !!