सरकार कर रही है बिहार के प्राथमिक व मध्य विद्यालयों में कार्यरत रसोइयों का शोषण : जय सिंह राठौर

ias coaching , upsc coaching

 

सरकार कर रही है बिहार के प्राथमिक व मध्य विद्यालयों में कार्यरत रसोइयों का शोषण : जय सिंह राठौर

सरकार कम से कम विद्यालयों में कार्यरत रसोइयों को मिनिमम वेतन दे : जय सिंह राठौर

पटना, 8 नवंबर 2023 : राजधानी पटना के गर्दनीबाग स्तिथ धरना स्थल पर राष्ट्रीय मध्याह्न भोजन रसोइया फ्रंट के तत्वधान में आयोजित रसोइयों का दो दिवसीय “भुखमरी मिटाओ, अधिकार दिलाओ” महाधरना बुधवार को मे संपन्न हो गया। महाधरणा के दूसरे दिन फ्रंट के राष्ट्रीय संरक्षक जय सिंह राठौर धरना में सम्मिलित हुए। इस मौके जय सिंह राठौड़ ने पत्रकारों से बातचीत में सरकार पर प्राथमिक व मध्य विद्यालयों में कार्यरत रसोइयों के शोषण का आरोप सरकार पर लगाया। उन्होंने कहा कि महिला सशक्तिकरण की बात करने वाली सरकार आज माता अन्नपूर्णा का आपमान कर रही है। इन लोगों को सरकार अपने द्वारा निर्धारित न्यूनतम वेतन देना भी जरूरी नहीं समझती है, इसलिए आज प्रदेश भर की रसोईया बहने भूखी – प्यासी यहाँ धरना देने को मजबूर हुई हैं।

उन्होंने कहा कि हम सरकार से इन बहनों के लिए कम से कम निर्धारित न्यूनतम वेतन की मांग करते हैं। इनका वेतन कम से कम 10000 रुपए होना चाहिए, बिना इसके महिला उत्थान की बात करना एक छलावा है। उन्होंने कहा कि भारत के प्रत्येक नागरिक को गरिमा पूर्वक जीने का अधिकार है, लेकिन सरकार रसोइयों के साथ सौतेला व्यवाहर कर रही है। रसोइयों की स्थिति बंधुआ मजदुर से भी बदत्तर हो गई है। ऐसे में अगर रसोइयों की मांगों को पूरा नहीं किया गया, तो हम सभी गांधी मैदान को भरने का काम करेंगे और यह आंदोलन वृहद होगा और इसके लिए जिम्मेदार सरकार होगी।

वहीं, संगठन के संस्थापक-सह- राष्ट्रीय महासचिव रामकृपाल ने कहा कि वर्तमान समय में रसोइयों की हालत सही नहीं है। वर्तमान में मिलने वाला मानदेय 1650/- (एक हजार छः सौ पचास रुपये) इस भीषण महंगाई में ऊट के मुह में जीरे के समान है। और मिलने वाला मानदेय भी रसोइयों को समय से नहीं मिलता है, जिसके कारण रसोइयाँ भुखमरी की शिकार हो रही है। पैसे के अभाव में पौष्टिक भोजन नहीं मिलने के कारण बिमारियों का शिकार होकर समय से पहले काल के गाल में समा जाती हैं जो बहुत ही हृदय विदारक है। उन्होंने सरकार से रसोइयों को न्यूनतम मजदूरी कम से कम ₹10000 प्रत्येक मां भुगतान करने तथा रसोइयों के सुरक्षित भविष्य की गारंटी की मांग की।

धरणा को प्रदेश अध्यक्ष कंचन कुंवर, उपेंद्र कुमार, लाल बिहारी राम, उमाशंकर प्रसाद, सुनैना देवी, मोहम्मद शकील, जीतू कुमार, रामप्रवेश चंद्रवंशी, शिवदत्त पासवान, महेंद्र पासवान, लाल बिहारी यादव, जगन पांडे, राजमतो देवी, सीताराम चौधरी, उपेंद्र कुमार, अनीता देवी, सुरेश राय, पवन शुक्ला, सुधांशु कुमार, क्रांति सिंह, जितेंद्र दुबे, रूबी देवी, प्रमोद कुमार, शंकर कुमार, नरेश रजक, रेखा देवी, कंचन देवी इत्यादि ने संबोधित किया। धरना प्रदर्शन का संचालन प्रदेश सचिव ओम प्रकाश राय एवं प्रदेश सचिव सुनैना देवी ने संयुक्त रूप से किया

ias coaching , upsc coaching

Leave a Comment

ias coaching , upsc coaching
What does "money" mean to you?
  • Add your answer
error: Content is protected !!