इजराइल और फिलिस्तीन एक बार फिर भिड़ गए हैं.

ias coaching , upsc coaching

इजराइल और फिलिस्तीन एक बार फिर भिड़ गए हैं. इजराइल और फिलिस्तीन के बीच का तनाव अब जंंग के मैदान तक पहुंच गया है. दोनों देशों के बीच तनाव उस वक्त बढ़ गया, जब बीते दिनों इजराइली सेना ने कई फिलिस्तीनियों को निशाना बनाया है. वहीं यहूदी समुदाय के लोगों ने अल-अकसा में घुसने की कोशिश की. हालात इतने खराब हो गए कि गाजा के हमास ग्रुप ने एक के बाद एक 5000 रॉकेट दाग दिए. इसके बाद इजराइल ने जंग का ऐलान कर दिया. इजरायल एम्बुलेंस सर्विस के मुताबिक मास के हमले में अब तक 22 की मौत, 250 से अधिक लोग घायल हुए हैं.

इजराइल पर रॉकेट हमले के बाद हमास ग्रुप का बयान आया है, जिसमें उन्होंने अरब देशों को इजराइल से दूर रहने की चेतावनी दी है. हमास का कहना है कि ‘इजराइल कोई शांति प्रिय देश नहीं है और यह कभी एक अच्छा पड़ोसी नहीं बन सकता. यह दुश्मनों का देश और हमें इन्हें रोकना होगा.’ इस बीच अमेरिका से लेकर ब्रिटेन, यूक्रेन सभी ने इजराइल को समर्थन दिया है.

इजराइल के प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतन्याहू ने हमास के हमले के बाद जंग का ऐलान किया और कहा कि “हम जीतेंगे.” नेतन्याहू ने कहा, “हमारे दुश्मन को इसकी कीमत चुकानी होगी, जैसा वे कभी सोंच भी नहीं सकते.” इजराइल ने अपनी सेना को हवाई हमले से लेकर समुद्र और ग्राउंड अटैक का आदेश दिया है. इजराइली रक्षा मंत्रालय ने कहा कि सेना को हर तरफ से हमले के आदेश दिए गए हैं. खासतौर पर गाजा पट्टी को निशाने पर लिया है.

पहली बार इजराइल में घुसे हमास के लड़ाके

ऐसा पहली बार है जब फिलिस्तीन के गाजा स्थित हमास के लड़ाके इजराइल में घुस गए हैं. दोनों देशों में टकराव होता रहा है. कई बार जंग किए हैं. हमास का कहना है कि उसके लड़ाके पहले बार खुद को बचाव करने की स्थिति में हैं. सोशल मीडिया पर सामने आए वीडियो में देखा जा सकता है कि किस तरह हमास के लड़ाके इजराइली सीमा से फेंसिंग नेस्तनाबूद करते हुए इजराइल में प्रवेश कर रहे हैं.

आक्रमणकारियों के खिलाफ युद्ध- हमास ग्रुप

हमास के प्रवक्ता खालिद कदोमी का कहना है कि “यह युद्ध आक्रमणकारियों के खिलाफ है.” हमास ने अंतर्राष्ट्रीय समुदाय से फिलिस्तीनियों के खिलाफ अत्याचार बंद करने की अपील की और अल-अकसा मस्जिद में घुसपैठ न करने की चेतावनी दी. हमास के प्रवक्ता ने कहा कि यही सब कुछ वजहें हैं जिसकी वजह से आज लड़ाई शुरू हुई है. इजराइली सैनिकों को बंदी बनाए जाने के सवालों पर हमास प्रवक्ता ने कहा,वे बंदी नहीं हैं बल्कि वे युद्ध अपराधी हैं.

ias coaching , upsc coaching

Leave a Comment

error: Content is protected !!