अब UPI की तरह अकाउंट में भी तेजी से जाएगा पैसा, केवल बैंक का नाम और मोबाइल नंबर डालने की जरूरत

ias coaching , upsc coaching

अब UPI की तरह अकाउंट में भी तेजी से जाएगा पैसा, केवल बैंक का नाम और मोबाइल नंबर डालने की जरूरत

जल्द ही आप बिना लाभार्थी (Beneficiary) को जोड़े 5 लाख रुपये तक एक बैंक खाते से दूसरे बैंक खाते में ट्रांसफर कर सकेंगे. भारतीय राष्ट्रीय भुगतान निगम (NPCI) ने बैंक खातों में ट्रांसफर को मनी आसान और एरर मुक्त बनाने के लिए तत्काल भुगतान सेवा (IMPS) को सरल बना दिया है.

NPCI का कहना है कि अगर आपको किसी को पैसे भेजने है तो आप उसके मोबाइल नंबर और बैंक खाते के नाम का उपयोग करके ऐसा कर सकेंगे. पहले तमाम और जानकारी भरनी पड़ती थी. जैसे अकाउंट नंबर और IFCS कोड. आप बिना लाभार्थी को जोड़े 5 लाख रुपये तक का ट्रांसफर कर सकते हैं. जल्द ही नया रूल लागू होगा.

IMPS से दो तरीके से कर सकते हैं पेमेंट
Person-to-Account Payment: इसमें, आपको धन ट्रांसफर के लिए प्राप्तकर्ता का बैंक खाता नंबर, बैंक का नाम और IFSC कोड दर्ज करना होगा.

Person-to-Person Payment: एक बैंक खाते से दूसरे बैंक खाते में ट्रांसफर शुरू करने के लिए, आपको प्राप्तकर्ता का मोबाइल नंबर और एक मोबाइल मनी आइडेंटिफ़ायर (MMID) की आवश्यकता होगी. MMID एक अद्वितीय सात अंकों का नंबर है जो बैंकों द्वारा अपने ग्राहकों को प्रदान किया जाता है, जो मोबाइल बैंकिंग सेवाओं तक पहुंच को सक्षम बनाता है. प्रत्येक मोबाइल बैंकिंग खाते को संबंधित बैंक द्वारा एक अलग MMID दिया जाता है.

ias coaching , upsc coaching

Leave a Comment

error: Content is protected !!