बीटेक के इन ब्रांच की कम हुई डिमांड, एआई और साइबर सिक्योरिटी छात्रों को पहली पसंद

ias coaching , upsc coaching

बीटेक के इन ब्रांच की कम हुई डिमांड, एआई और साइबर सिक्योरिटी छात्रों को पहली पसंद

आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस, इंटरनेट ऑफ थिंग्स, मशीन लर्निंग और साइबर सिक्योरिटी और कंप्यूटर साइंस छात्रों की पहली पसंद बने हैं. वहीं मैकेनिकल और सिविल इंजीनियरिंग जैसे ब्रांचों की डिमांड में अब गिरावट आ रही है. महाराष्ट्र के इंजीनियरिंग काॅलेजों में इस बार कुल 1.17 लाख से अधिक छात्रों ने एडमिशन लिया है, जो पिछले वर्ष से अधिक है.

नए जमाने की तकनीक जैसे एआई, एमएल और आईओटी सहित कंप्यूटर इंजीनियरिंग पाठ्यक्रमों की कुल 49,586 सीटों में से 44,517 सीटें भरी जा चुकी हैं. जबकि एआई-एमएल और एआई-डेटा साइंस की पेशकश करने वाले सुपर स्पेशलाइज्ड पाठ्यक्रमों में इस साल प्रवेश सत्र के अंत में कुल 9,642 सीटों में से 8,514 सीटें भर चुकी हैं.

महाराष्ट्र सीईटी सेल की ओर से जारी आंकड़ों के अनुसार मैकेनिकल इंजीनियरिंग पाठ्यक्रमों में कुल 23,193 सीटें हैं, जिनमें से 12,065 ही भरी जा सकी. वहीं मैकेनिकल इंजीनियरिंग में लगभग 50 प्रतिशत सीटें खाली हैं. सिविल इंजीनियरिंग में भी इस वर्ष 50 प्रतिशत से अधिक सीटें खाली हैं. सिविल इंजीनियरिंग में इस वर्ष प्रवेश के लिए 17,268 सीटें थी, लेकिन सिर्फ 7103 सीटों पर ही दाखिले हुए हैं. सिविल इंजीनियरिंग के संबद्ध पाठ्यक्रमों जैसे सिविल और पर्यावरण इंजीनियरिंग, सिविल और इंफ्रास्ट्रक्चरल इंजीनियरिंग, सिविल इंजीनियरिंग और प्लानिंग में भी बहुत कम एडमिशन दर्ज किए गए. कुल 341 सीटों में से केवल 104 सीटें ही भरी गईं.

ias coaching , upsc coaching

Leave a Comment

error: Content is protected !!